शुक्रवार, 6 मई 2022

SAGAR : आशा कार्यकर्ता भर्ती में शिकायत मिली, BMO और BCM को हटाया★ CMHO ने अस्पतालों का किया निरीक्षण, सरकारी और निजी अस्पतालों में मिली कमियां

SAGAR : आशा कार्यकर्ता भर्ती में शिकायत मिली, BMO और BCM को हटाया

★ CMHO  ने अस्पतालों का किया निरीक्षण,  सरकारी और निजी अस्पतालों में मिली कमियां

सागर । सागर जिले के विकासखण्ड शाहपुर में आशा कार्यकर्ता चयन प्रक्रिया के दौरान हुयी षिकायतों की विभागीय स्तर पर जाँच के पश्चात् जाँच रिपोर्ट जिला कलेक्टर के अनुमोदन के उपरांत ब्लॉक के प्रभारी बीएमओ डॉ. अंकित बोहरे एवं बीसीएम प्रकाष विश्वकर्मा तत्काल प्रभाव से हटाने हेतु आदेष जारी किये गये ।
विकाखंण्ड के बीएमओ डॉ. अंकित बोहरे को प्रभार से मुक्त करते हुये डॉ.आर.के.खरे को प्रभार सौपने संबंधी आदेष जारी किया गया । वही बीसीएम प्रकाष विष्वकर्मा को शाहपुर से हटाते हुये विकासखण्ड आगासौद में सेवायें देने हेतु आदेषित किया गया । इसी अनुक्रम में 28 अपै्रल 2022 को जिला कलेक्टर दीपक आर्य द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शाहपुर का औचक निरीक्षण किया गया था । जिसमें दवा वितरण कक्ष की अव्यवस्थाओं व स्थानीय स्तर की षिकायतों के आधार पर संविदा फार्मासिस्ट ललित विष्वकर्मा को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शाहपुर से हटाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुरखी में सेवाये देने हेतु आदेषित कर चेतावनी पत्र जारी किया गया।

SAGAR : युवती से गैंगरेप, जीजा से मारपीट कर साली को उठा ले गए जगंल में★ हिस्ट्रीशीटर बदमाश ने साथियों के साथ दिया वारदात को अंजाम★ जंगल में पहुचे एसपी घटनास्थल का मुआयना करने, दो रेपिस्ट गिरफ्तार, दो फरार, फरार आरोपियो पर 20 हजार का इनाम घोषित,★ फरार अपराधी चेनसिंह का मकान जमीदोज
SAGAR: मोबाइल टावर में लगी आग से अफरा तफरी, उपकरण जलकर खाक★ जनरेटर का डीजल टैंक फटने से बचा, बड़ा हादसा टला

सीएमएचओ ने अस्पतालों का औचक निरीक्षण कर की कार्यवाई

जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेष बौद्ध ने गुरूवार को सुबह शासकीय व निजी अस्पतालों का औचक निरीक्षण कर स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया । जिसमें सबसे अधिक अनियमिताये पॉली क्लिनिक चमेली चौक में पायी गयी । संस्था में अधिकांष स्टॉफ अनुपस्थित पाया गया । संस्था परिसर में गंदगी के साथ-साथ अस्पताल परिसर के आस-पास असमाजिक तत्वों का जमावड़ा देखकर सीएमएचओ डॉ. सुरेष बौद्ध द्वारा तत्काल समस्त संबंधितां का एक दिन का वेतन काटते हुये कारण बताओ नोटिस जारी किये।




निजी अस्पतालों का भी हुआ औचक निरीक्षण
1. मनोकामना नर्सिग होम में फायर सेफ्टी क्लिरेंस सर्टिफिकेट नहीं पाया गया तथा मरीजों को बैठने हेतु पर्याप्त व्यवस्था का आभाव पाया गया ।
2. डॉ. संजय पारासर ऐलोपैथिक चिकित्सा की पात्रता न होते हुये भी मरीजों को आई व्ही फ्लूड वॉटल लगाये हुये पाये गए तथा कारण व चिकित्सीय अवस्था पूछने पर स्पष्ट उत्तर भी नहीं दे पाये ।
3. गोपालगंज स्थित डॉ नीतेन्द्र राजपूत के नर्सिग होम के निरीक्षण के दौरान कोई भी मरीज नहीं पाया गया लेकिन मरीज के लेटने की व्यवस्था नियमानुसार नहीं पायी गयी।
उक्त निजी स्वास्थ्य संस्थाओ को भी कारण बताओ नोटिस जारी किये गए । निरीक्षण दल में सीएमएचओ के अतिरिक्त डॉ. एम.एल.जैन नोडल अधिकारी  नर्सिग होम एक्ट, डॉ. अचला जैन डी.एच.ओ. ,दीपक जैन सहायक स्टॉफ एवं हेमराज अहिरवार उपस्थित थे ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense