शनिवार, 7 मार्च 2020

ओरछा के आसपास औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा: मंत्री श्री राठौर

ओरछा के आसपास औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा: मंत्री श्री राठौर
#ओरछा में बिजनेस कॉन्क्लेव सम्पन्न,नमस्ते ओरछा उमड़े पर्यटक

सागर । वणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा है कि नमस्ते ओरछा महोत्सव न सिर्फ रामराजा की नगरी ओरछा के महत्व में वृद्धि करेगा बल्कि निकटवर्ती पर्यटन और आस्था के अन्य केन्द्र भी राष्ट्रीय पर्यटन के नक्शे पर उभर कर आएंगे। श्री राठौर आज ओरछा में ष्नमस्ते ओरछा महोत्सव के दूसरे दिन बिजनेस कॉनक्लेव के शुभारंभ सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ओरछा के नजदीक गढ़कुण्डार, बल्देवगढ़ का किला, मढ़खेरा सूर्य मंदिर आदि स्थानों में पर्यटन की व्यापक संभावनाओं को साकार करने के लिये यह महोत्सव महत्वपूर्ण प्रयास है। श्री राठौर ने कहा कि ओरछा में विभिन्न व्यावसायिक गतिविधियों को बढ़ाने के प्रयास भी किये जा रहे हैं।
मंत्री श्री राठौर ने कहा कि वाटर स्पोर्ट्स की गतिविधियों के लिये भी ओरछा और आस-पास का क्षेत्र बहुत अनुकूल है। यहाँ करीब पांच सौ तालाब होने से यहां जलक्रीड़ा स्पर्धाएँ संभव हैं। उन्होंने कहा कि फिल्मों के निर्माण की दृष्टि से ओरछा में जो सुविधायें उपलब्ध हैं, उसका लाभ लेने के लिये लोग आगे आयेंगे। श्री राठौर ने कहा कि राजस्थान के चित्तौड़गढ़ और मध्यप्रदेश के चंदेरी जैसे पर्यटन स्थलों से टूरिस्ट सर्किल द्वारा ओरछा को जोड़ने की दिशा में प्रयास किये जायेंगे। वाणिज्यिक कर मंत्री श्री राठौर ने कहा कि यहां हवाई पट्टी की संभावनाओं को भी साकार किया जा सकता है।
शीघ्र लाएंगे नवकरणीय ऊर्जा की न्यू वीजन पॉलिसी
मुख्य सचिव  एस.आर. मोहंती ने कहा कि मध्यप्रदेश की भौगोलिक स्थिति के कारण देश की लगभग पचास प्रतिशत आबादी इससे जुड़ी है। मध्यप्रदेश अनके क्षेत्रों में अग्रणी स्थिति में है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में नवकरणीय उर्जा के क्षेत्र में काफी काम किया जा रहा है। मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में शीघ्र ही नवकरणीय उर्जा की "न्यू विजन पॉलिसी" लाई जायेगी।
मुख्य सचिव श्री मोहंती ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों की स्थापना के लिये स्वीकृतियाँ  देने की समयबद्ध व्यवस्था की गई है। कृषि आधारित उद्योगों के विकास, खाद्य प्र-संस्करण इकाईयाँ लगाने, नये आवासीय क्षेत्र विकसित करने, फार्मास्युटिकल उद्योग, टेक्सटाइल सेक्टर और पर्यटन विकास के लिये अनेक कदम उठाये गये हैं। उन्होंने बताया कि इन्दौर और भोपाल में मेट्रो रेल लाने, स्मार्ट नगरों के विकास, रेल सुविधाएँ बढ़वाने, खनिज क्षेत्र में परियोजनाओं की शुरूआत और पीपीपी मोड पर निजी निवेशकों को आमंत्रित किया जा रहा है। मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश के तीन विश्व धरोहर स्थल साँची, खजुराहो और भीम बैटका के बाद शीघ्र ही ओरछा भी इस श्रेणी में शामिल हो, इसके प्रयास किये जा रहे हैं।
श्री एस.आर. मोहंती ने बिजनेस कॉनक्लेव में आये उद्योगपतियों को आश्वस्त किया कि मध्यप्रदेश में निवेश के लिये भूमि आवंटन और अन्य सुविधाओं के साथ ही आदर्श कानून-व्यवस्था आदि का लाभ सहज उपलब्ध है। ये व्यवस्थाएं निरंतर कायम रखने पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है।
नमस्ते ओरछा महोत्सव में दूसरे दिन सुबह की अनूभूतियां
मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल ओरछा में श्श्नमस्ते ओरछाश्श् महोत्सव में दूसरे दिन 7 मार्च को सुबह विभिन्न गतिविधियां आयोजित की गयीं।  इस दौरान स्थानीय बेतवा रिट्रीट में स्वास्थ्य एवं योगा सत्र हुआ, जिसमें विदेशी सैलानियों के साथ देशी सैलानियों ने भी योगाभ्यास किया। इसके साथ ही, पर्यटकों ने बेतवा रिट्रीट से साईकलिंग की, जो बेतवा पुल, अभ्यारण्य, जहांगीर महल, मुख्य मार्ग होते हुए बेतवा रिट्रीट वापिस पहुंची।
सुबह की अनुभूतियों में बेतवा नदी में कंचना घाट से पर्यटकों ने एडवेंचर स्पोर्टस (राफ्टिंग) का आनंद लिया। इसमें सैलानियों ने बेतवा नदी में राफ्टिंग की। सैलानियों ने फोटोग्राफी वॉक का भी आनंद लिया।
संस्कृति मंत्री डॉ. साधौ ने किया ओरछा भ्रमण
चिकित्सा शिक्षा, आयुष एवं संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ आज निवाड़ी जिले के प्रवास पर रहीं। उन्होंने ओरछा में श्रीरामराजा सरकार के दर्शन किये।डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने शीश महल में फूड एवं क्राफ्ट मेला देखा। उन्होंने मेले में आये शिल्पकारों, कलाकारों तथा दुकानदारों से चर्चा की। डॉ. साधौ ने जहांगीर महल तथा शीश महल का भी भ्रमण किया। इस अवसर पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को पर्यटकों के लिये बेहतर व्यवस्थाएं बनाये रखने के निर्देश दिये।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive