मंगलवार, 3 मार्च 2020

कलेक्टर और नगरनिगम आयुक्त को हटाने की मांग की काँग्रेस अध्यक्ष और पूर्व पार्षदों ने

कलेक्टर और नगरनिगम आयुक्त को हटाने की मांग की काँग्रेस अध्यक्ष और पूर्व पार्षदों ने

सागर। प्रदेश सरकार के मंत्रियों के निर्देश पर कलेक्टर से मुलाकात करने पहुंचे नगर निगम के निवृत पार्षदों के साथ कलेक्टर द्वारा नगर निगम
आयुक्त की मौजूदगी में की गई बदसलूकी को लेकर कांग्रेसजन मुख्यमंत्री  कमलनाथ से मिलकर कलेक्टर प्रीति मैथिल व नगरनिगम आयुक्त आरपी अहिरवार को हटाने की मांग करेंगे। इसके साथ ही वे मुख्यमंत्री के समक्ष अपने इस्तीफे की पेशकश करेंगे तथा सड़कों पर उतरकर प्रशासनके खिलाफ जन - आंदोलन करेंगे। इसके साथ ही सभी सरकारी बैठकों एवं कार्यक्रमों का भी बहिष्कार किया जाएगा।
शहर अध्यक्ष रेखा चोधरी ने प्रेस को जारी एक बयान में कही।
उन्ह्होंनेे कहा कि यह निर्णय कांग्रेस के निवृत पार्षदों की बैठक में लिया गया है। गौरतलब है कि भाजपा शासित नगर निगम में प्रधानमंत्री आवासयोजना बीएलसी तथा विकास व निर्माण कार्यों के आवंटन में भेदभाव कर कांग्रेस पार्षदों के वार्डों के जरूरतमंदों को इन से वंचित किया जा रहा था। परिषद का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी आयुक्त द्वारा भाजपा शासित परिषद की तरह ही इनके साथ उपेक्षा पूर्ण व्यवहार किया जा रहा था।
इस बात को लेकर निवत पार्षदों का एक प्रतिनिधि मंडल जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी के नेतृत्व में पिछले दिनों जिले के प्रभारी मंत्री श्रीबृजेंद्र सिंह राठौर तथा नगरीय प्रशासन मंत्री श्री जयवर्धन सिंह से भोपाल जाकर मिला था।
भोपाल पहुंचे निवृत्त पार्षदों श्रीमती किरण मिश्रा महेश जाटव भैयन पटेल आराधना नेमा विनोद सोनी त्रिवेणी रूपनारायण यादव
सेवादल पूर्व अध्यक्ष अतुल नेमा ताहिर खान रसीद राईन ब्लॉक अध्यक्ष फ़िरदौस कुरेशी अभिषेक पाठक आदि ने मंत्रियों के सामने शिकायत रखी कि शासन की राजीव आवास योजना प्रधानमंत्री आवास योजना तथा इसके एक अन्य घटक बीएलसी का लाभ उनकी वार्डों में जरूरतमंदों को देने की बजाय भाजपा पार्षदों के वार्डों में बड़ी संख्या में अपात्रों को दिया जा रहा है। ऐसी ही स्थिति वार्डों में मूलभूत जरूरतों के हिसाब से निर्माण और विकास कार्यों को लेकर भी बनी हुई है।
प्रतिनिधिमंडल ने आरोप लगाया कि परिषद का कार्यकाल समाप्त होने के बाद नगर निगम आयुक्त द्वारा उनके वार्डों की गरीब जनता के साथ पक्षपात एवं उपेक्षापूर्ण व्यवहार किया जा रहा है। इस संबंध में उनसे बात करने पर निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के साथ सार्वजनिक
रूप से अभद्रतापूर्ण व्यवहार कर अपमानित किया जा रहा है। नगर निगम द्वारा वार्डों के पुनर्गठन एवं सीमांकन के कार्य में भी उन्हें सुने बिना एक पक्षीय कार्यवाही कर भाजपा के लोगों को फायदा पहुंचाने की कोशिश की गई है।
प्रतिनिधिमंडल की उक्त पूरी बातों को गंभीरता से सुनने के बाद प्रभारी मंत्री श्री बृजेंद्र सिंह राठौर तथा नगरीय प्रशासन मंत्री श्री
जयवर्धन सिंह ने अलग-अलग स्तर पर नगर निगम प्रशासक व कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक तथा आयुक्त आरपी अहिरवार से फोन पर चर्चा कर इन्हें जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी के साथ अपने पास बुलाने तथा चर्चा कर निराकरण करने के निर्देश दिए थे।
प्रदेश सरकार के मंत्रियों के निर्देशों पर कलेक्टर से मुलाकात करने पहुंचे प्रतिनिधि मंडल में शामिल चक्रेश सिंघई श्रीमती किरण
मिश्रा महेश जाटव भैयन पटेल आराधना नेमा विनोद सोनी त्रिवेणी रूपनारायण यादव दुर्गा पटेल पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रभूदयाल बिल्थरिया सेवादल पूर्व अध्यक्ष अतुल नेमा रसीद राईन आदि से उनकी बात सुनकर निराकरण करने के बजाय उनके द्वारा आयुक्त आरपी अहिरवार को शह देते हुए। जनप्रतिनिधियों साथ बेहद अपमानजनक व्यवहार किया। प्रतिनिधिमंडल के साथ पहुंची कांग्रेस परिवार की मुखिया व जिलाध्यक्ष रेखा चौधरी के साथ कलेक्टर द्वारा सामान्य शिष्टाचार तो दूर उनसे कोई चर्चा भी नहीं कर पूरी कांग्रेस पार्टी का भी अपमान किया है। कलेक्टर ने मंत्रियों के सामने अपनी बात रखने से आक्रोश जताकर सभी के नाम अपनी डायरी में नोट करते हुए नगर निगम चुनाव की आचार संहिता लगने के बाद उन्हें मजा
चखाने की तल्ख शब्दों में खुली चेतावनी तक दे डाली। कलेक्टर और आयुक्त के इस अप्रत्याशित दुर्व्यवहार से निर्वाचित जनप्रतिनिधि के रूप में यह पार्षद पूरी कांग्रेस पार्टी और अपने आपको बेहद अपमानित और आहत महसूस कर रहे हैं। ये सभी पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा लेकर मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी से मिलने भोपाल जाने की तैयारी कर रहे हैं। इन निवृत पार्षदों का कहना है कि यदि उनकी सुनवाई नहीं होती है तो वह अपने-अपने पदों से इस्तीफा देकर कलेक्टर और आयुक्त की तानाशाहपूर्ण कार्यप्रणाली के खिलाफ सड़कों पर उतर कर जन आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस घटनाक्रम पर कांग्रेसजनों ने
सभी सरकारी बैठकों एवं कार्यक्रमों के बहिष्कार की घोषणा भी की है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive