बुधवार, 4 मार्च 2020

कोरोना वायरस से डरें नहीं, सावधानियां बरतें :कलेक्टर श्रीमती मैथिल

कोरोना वायरस से डरें नहीं, सावधानियां बरतें :कलेक्टर श्रीमती मैथिल

#कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सावधानियां बरतने हेतु बैठक में दिए गए सुझाव

सागर। कोरोना वायरस से डरें नहीं, सावधानियां बरतें साथ ही सर्दी-जुकाम वालां से दूरी बनाएं रखें। उक्त विचार नोवल कोरोना वायरस बचाव हेतु जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक में नए कलेक्टर सभाकक्ष में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने व्यक्त किए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री सीएस शुक्ला, स्वास्थ्य सेवाएं सहायक संचालक श्री बीके खरे, सीएमएचओ डा. एमएस सागर, आर्मी अस्पताल के तपन तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह, नगर निगम उपायुक्त डा. प्रणय कमल खरे, पूर्व सिविल सर्जन डा. अरूण शराफ, डा. ज्योति चौहान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।
बीएमसी और जिला असप्तताल में अलगवसे प्रबंध
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल ने बैठक में निर्देष दिए कि जिला चिकित्सालय में 2 पलंग एवं बीएमसी में 5 पलंग का आईसोलेषन वार्ड प्रारंभ किया जाए। उन्होंने प्रत्येक शासकीय एवं अषासकीय अस्पतालों में एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त करें एवं नोवल कोरोना वायरस से बचाव हेतु विभिन्न सावधानियों के बैनर, पोस्टर बस स्टेण्ड, रेल्वे स्टेषन, कस्बों स्कूल कालेजों में एवं अन्य सार्वजनिक चौराहों पर लगाएं। उन्होंने सीएमएचओ  निर्देष दिए कि समस्त शासकीय अस्पतालां में डाक्टरों की उपस्थिति अवकाष के दिनों में भी सुनिष्चित करें। उन्होंने पीने के पानी के श्रोतों एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों पर पानी की साफ-सफाई रखी जावे। उन्होंने कोरोना वायरस से डरें नहीं, सावधानियां बरतें साथ ही सर्दी-जुकाम वालां से दूरी बनाएं रखें। साथ ही आपस में हाथ मिलाने की जगह दूर से हाथ जोड़कर नमस्ते कर अभिवादन करें।
मॉकड्रिल 5 मॉर्च को
जिला चिकित्सालय तिली में 5 मार्च गुरूवार को दोपहर 12 बजे से नोवल कोरोना वायरस से बचाव हेतु मॉकड्रिल आयोजित की जाएगी। उक्त जानकारी सीएमएचओ डा. एमएस सागर ने दी।  
क्या है कोरोना वायरस
कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है जिससे सामान्यतरू जानवरों में बीमारियाँ होती है। कभी-कभी ये मनुष्यों में संक्रमण करता है। मनुष्यों में इसके लक्षण सर्दी, खाँसी एवं बुखार, सिरदर्द, गले में खराश इत्यादि के रूप में हो सकते हैं। छोटे बच्चों और बुजुर्ग व्यक्तियों सहित ऐसे व्यक्तियों में जिनमें प्रतिरक्षण की क्षमता कम होती है, में यह वायरस निमोनिया, ब्रोंकाइटिस इत्यादि गंभीर बीमारियाँ उत्पन्न करता है।
      एडवाइजरी के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छींकने से हवा द्वारा फैलता है। संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क, छूने या हाथ मिलाने और संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आँख या नाक को छूने से भी यह फैलता है। नागरिकों को चाहिए कि संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें। अपने हाथ बार-बार धोते रहें। संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आँख या नाक को छूने से बचें। नागरिकों को सलाह दी गई है कि सामान्य सर्दी-खाँसी, बुखार होने पर चिकित्सक की सलाह लें एवं घर में आराम करें।
कोरोना वायरस से बचाव हेतु सावधानियां- छींकने, खांसने, टायलेट आदि के पष्चात एवं बीमार व्यक्ति से मिलने, खाना पकाने अथवा खाना खाने इत्यादि के पूर्व एवं पष्चात साबुन एवंज ल से नियमित रूप से हाथ धोएं। छींकते व खांसते समय नाक एवं मुंह को रूमाल, टिष्यू या कोहनी से ढांक कर रखें। खांसी जुकाम या बुखार से पीड़ित व्यक्ति से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें। खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में तकलीफ की दषा में तत्काल चिकित्सक से संपर्क करें। बुखार या सर्दी जुकाम की दषा में यात्राएं टालें।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive