रविवार, 1 मार्च 2020

रिटायर्ड पुलिस अफसरों ने दिए सुझाव व्यवस्था को लेकर, पुलिस रीयूनियन में

रिटायर्ड पुलिस अफसरों ने दिए सुझाव व्यवस्था को लेकर, पुलिस रीयूनियन में
सागर।  जवाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी सागर में  तीन दिनी सन् 1906 से 1969 के वरिष्ठ प्रशिक्षु उपनिरीक्षक अधिकारी सेमीनार में आयोजित किया गया है। इसमें अधिकांश अधिकारियों का आगमन हुआ। सभी का वर्षो बाद हुआ यह मधुर मिलन, अकादमी प्रेम जिन लोगों ने देखा वे अपलक देखते ही रह गये। देर रात तक सभी एक दूसरे से पुरानी यादे, अपनी जिन्दगी के गुजरे हुये लम्हे चर्चा कर बांटते रहे। इस मिलन के बाद शायद ही को रात्रि में सोया हो। इस सेमिनार का प्रारंभ सुबह के चाय, नास्ते से हुआ। इसके उपरांत सभी उसी ग्राउंड पर गये जहां वर्षो पहले इन सभी ने अपने आपको देश की सेवा कि लिये समर्पित किया था। उसी जेएनपीए स्थित परेड ग्राउंड पर उनकी यादों को ताजा करने के लिये ग्रुप फोटों का आयोजन किया गया। जिसमें सभी एकत्रित हुये। पुराने दोस्तों से मिलकर उनका वही वर्षों पुराना जोश, वही युवावस्था की मस्ती, वही पुराने नामों से एक दूसरे को पुकारना दिखाई दिया। 
प्रथम बेच के एस एस श्रीवास्तव भी पहुचे
इनमें एक वरिष्ठ अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव तो ऐसे भी थे। जिन्होंने सन् 1947 में जबाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी से ट्रेनिंग ली थी। उनकी उम्र 95 वर्ष है। ये इनमें सबसे सीनियर थे। आजादी के तुरंत बाद इस प्रथम बैच के ये अधिकारी अपने पुराने मित्रों को देखते ही अपने हांथ में लिये जिस लाठी के सहारे वे चल रहे थे। उसे ऊपर उठाकर दौड़ पड़े। ये अद्भुद मिलन देखकर सब भौचक्के रह गयेे। ग्राउण्ड ठहाकों से गूंज उठा। सभी के ग्रुप फोटो तथा अन्य फोटोज लिये गये। 
 कोर्स का उद्घाटन समारोह अकादमी स्थित आॅडिटोरियम में आयोजित किया गया। जिसमें नवागत उप पुलिस महानिरीक्षक,  राजेश हिंगणकर , जेएनपीए सागर द्वारा बैच के सबसे वरिष्ठ अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव (95 वर्ष)को आमंत्रित किया गया तथा उनके द्वारा मां सरस्वती का पूजन, दीप प्रज्जवन तथा पुष्पार्पण किया गया। तत्पश्चात सभी वरिष्ठ जनों का स्वागत, अभिनंदन किया गया।
अनुभव साझा और अफसरो का आभार
सभी सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधि0 तथा उनकी धर्मपत्नियों से अपनी पुलिस विभाग में रहते हुये तथा सेवानिवृत्ति के पश्चात की जीवन यात्रा, अनुभव तथा पुलिस विभाग के लिये उनके सुझाव चाहे गये। इस दौर मंे सर्व प्रथम तो सभी ने विशेष पुलिस महानिदेशक,  संजय राणा तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदया सुश्री अनुराधा शंकर का बार-बार धन्यवाद प्रकट किया गया कि, उन्होने इतना अच्छा आयोजन किया। ये आयोजन हमेशा आगे भी करते रहने का आग्रह किया। कुछ अधिकारियों द्वारा विशेष पुलिस महानिदेशक , श्री संजय राणा के साथ ग्वालियर में किये गये यादगार कार्यों का स्मरण किया तथा कुछ के द्वारा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक  सुश्री अनुराधा शंकर की दयालुता व उनके द्वारा किये गये पुलिस विभाग के लिये वेलफेयर कार्यों की सराहना की। 
सेवानिवर्तो के सुझाव को भेजा जाएगा

 सेवानिवृत्त अधिकारियों द्वारा अपने सुक्षाव दिये गये। श्री आर0पी0 तिवारी बैच 1967 द्वारा बताया गया कि, पुलिस के लिये सबसे महत्वपूर्ण है अपनी छबि को बनाये रखना। यदि आपने समाज में अपनी छबि एक अच्छे अधिकारी के रूप में निर्मित कर ली है। तो आपके कार्य में किसी भी प्रकार का अवरोध कतई नहीं आ सकता। श्री बी0पी0 शुक्ला बैच 1965 द्वारा मुखबिर तंत्र की मजबूती में पुलिस विभाग की सफलता पर जोर दिया। इन्होने बताया कि पुलिस सोर्स आफ इनफोर्मेसन बनाये। कुछ अधिकारियों द्वारा प्रमोशन के क्रम पर कहा कि निम्न स्तर से उच्च की तरफ प्रमोशन से पद भरे जाना चाहिए। ताकि विभाग में अधिक अनुभवी अधिकारी हो। श्री परिहार साहब द्वारा बताया गया कि छोटी-छोटी शिकायतों पर भी बारीकी से जांच हो ताकि आगे जाकर वे शिकायते काननू व्यवस्था की स्थिति निर्मित न करें। विभागीय जांच सिखाने के लिये अधिकारियों के रिफ्रेसर कोर्स आयोजित कराये जाये। अधिकारी की धर्म पत्नि श्रीमती कुशुम शुक्ला द्वारा अपने जीवन की कठिनाई का जिक्र करते हुये सुझाव दिया कि, पुलिस विभाग में ट्रासफर करते वक्त उनके बच्चों केे भविष्य का विशेष ध्यान दिया जाना चाहिये। क्यांेकि अचानक तथा बार-बार हुये तबादलो से पुलिस अधि0/कर्म0 के बच्चों का भविष्य डगमगा जाता है। अधिकांश अधि0 के द्वारा सेवानिवृति के बाद पुलिस वेलफेयर सुविधायें प्रदान करने पर जोर दिया। स्वस्थ्य सुरक्षा योजना में शामिल किये जाने की बात कही गई। कार्यक्रम में शामिल हुये सागर तथा पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों द्वारा सुझावों पर निश्चित ही अमल किये जाने का भरोसा दिलाया गया।  उमनि, जेएनपीए द्वारा सेवानिवृत्त पुलिस अधि0 के सम्मान के लिये उनके निवास स्थान के संबंधित थाना प्रभारी उनके जन्म दिवस पर गुलदस्ता भेंट करें तथा समय9:30 पर उनसे मिलते रहें इस हेतु प्रदेश स्तर पर विशेष पुलिस महानिदेशक , प्रशिक्षण पुमु भोपाल को सुझाव के रूप में भेजने का आश्वासन दिया गया। 
कार्यक्रम में पुलिस मुख्यालय भोपाल प्रशिक्षण शाखा से सहा0 पुलिस महानिरीक्षक  मलय जैन कार्यक्रम में  शामिल हुये।सागर से पुलिस महानिरीक्षक  अनिल शर्मा, पुलिस अधीक्षक  अमित सांघी, पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त  रामेश्वर यादव एवं समस्त जेएनपीए स्टाफ शामिल हुआ। इस कार्यक्रम में अकादमी में पदस्त डाॅ0 चंद्रप्रभा जैन का योगदान विशेष सराहनीय रहा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive