जंय श्री गणेशाय नमः

मंगलवार, 14 सितंबर 2021

श्री गुरुधाम में मनाया गया श्री राधाष्टमी महामहोत्सव

श्री गुरुधाम में मनाया गया  श्री राधाष्टमी महामहोत्सव



सागर । श्री गौड़ीय सम्प्रदाय में श्री चैतन्य महाप्रभु जी की विशुध्द वैष्णव परम्परा के ब्रज रस रसिक सन्त नित्यलीला प्रविष्ट ऊँ भगवदपाद श्री श्री 1008 श्री वासुदेव शरण 'विरही जी महाराज द्वाराप्रतिष्ठित सागर नगर में श्रीश्री राधाष्टमी महामहोत्सव का यह 59वीं वार्षिक महोत्सव बड़े ही धूमधाम एवं उल्लास पूर्वक श्रीगुरुधाम, भूतेश्वर पथ,सागर में मनाया जा रहा है। आज श्री राधारानी जी, जो श्रीकृष्ण की आह्लादिनी शक्ति हैं, का शुभ आविर्भाव दिवस है। विगत 11 सितम्बर से श्री गुरुधाम में विविध धार्मिक अनुष्ठान सम्पन्न हो रहे हैं। गत कल 13 सितम्बर सोमवार को श्री ललिता जी का आविर्भाव मनाया गया। प्रातः 6बजे मंगलारती के पश्चात् उदयास्त अखंड श्री हरीनाम संकीर्तन सम्पन्न हुआ |रात्रि 7.30 बजे श्री ठाकुर जी की संध्या आरती पश्चात् भजन संकीर्तन एवं धर्म प्रवचनों में भक्तों ने श्रीललिता जी का,जो श्री राधारानी की अष्टसखियों में प्रधान है, का गुणानुवाद गान किया। रात्रि 9.30 बजे शयन आरती पश्चात् विशेष प्रसाद वितरण किया गया।


आज 14 सितम्बर मंगलवार को प्रात: 6 बजे मंगलारती के पश्चात् भजन-संकीर्तन एवं श्री हरिनाम संकीर्तन प्रभातफेरी निकाली गई। श्री गुरुधाम से प्रारम्भ होकर मोतीनगर थाना, चमेलीचौक,बड़ाबाजार सराफा कोतवाली होकर चकराघाट पहुँचकर वापिस उसी मार्ग से प्रभातफेरी गुरुधाम में समाप्त हुई। प्रभातफेरी में भोपाल से रवीन्द्र श्रीवास्तव, राकेश श्रीवास्तव अजमेर से निर्मल प्रभु कोटा से हरिनारायण शर्मा दमोह से कपिल सोनी,ललित कृष्ण असाटी, सीताराम सोनी नरयावली से रामनारायण विश्वकर्मा मोतीलाल,लखन हरई से शंकरलाल, अशोक, गैसाबाद से कमल ,बलदेव ,खुरई से महेश श्रीवास्तव, राधामोहन माहेश्वरी, देवेश चौरसिया, ललित राजपूत सेमरा (ढाना)से रामेश्वर बलराम ,गोविन्द राहतगढ़ से पप्पू अग्रवाल आदि भक्तों ने भाग लिया ।प्रभातफेरी पश्चात् 10 बजे से भजन संकीर्तन एवं धर्मप्रवचन के माध्यम से श्रीराधातत्व एवं उनकी महिमा पर प्रकाश डाला गया। दोपहर 12.30 बजे श्रीराधारानी जी का महाअभिषेक एवं आरती का दर्शन सभी भक्तों ने किया। तत्पश्चात् एक विशाल भण्डारे का आयोजन हुआ।

यह आयोजन श्रीविरही जी महाराज के कृपापात्र नित्यलीला प्रविष्ट ऊँ भगवद्पाद श्रीश्री 108  श्री चक्रधर प्रसाद ब्रह्मचारी जी भक्ति शास्त्री जी महाराज के कृपाआशीर्वाद से एवं उनके प्रिय शिष्य श्रीहरेकृष्ण दास ब्रह्मचारी जी की पावन सन्निधि में सम्पन्न हुआ। जिसमें श्री गौरहरि संकीर्तन मण्डल वं श्री चैतन्य प्रेमभक्ति वैष्णव संस्थान सागर के सभी भक्तों का विशेष योगदान रहा। कल बुधवार को श्री गुरुधाम में श्री भागवत जयंती के उपलक्ष्य में विविध भक्ति अनुष्ठान सम्पन्न होंगे।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive