जंय श्री गणेशाय नमः

सोमवार, 13 सितंबर 2021

विधायक निधि में गड़बड़ी, 2 की जगह 20 हजार के चेक जारी, महिला कर्मचारी पर कार्रवाई

विधायक निधि में गड़बड़ी, 2 की जगह 20 हजार के चेक जारी, महिला कर्मचारी पर कार्रवाई

★ योजना शाखा की महिला कर्मचारी ने विधायक निधि के 2 हजार की जगह 20-20 हजार के चेक जारी कर दिए। 

★ 2 महीने पहले इसी महिला कर्मचारी ने विधायक निधि के बजाय निगम निधि के 30 से अधिक चेक दे दिए थे। 

सागर। नगर निगम की योजना शाखा में एक बड़ा मामला सामने आया है। यहां पदस्थ एक महिला क्लर्क ने विधायक निधि से 2-2 हजार के बजाय 20-20 हजार के चेक जारी कर दिए। वह तो उपायुक्त ने मामले को पकड़ लिया और आयुक्त को जानकारी दी तो मामले का खुलासा हो गया। उक्त महिला कर्मचारी पूर्व में भी विधायक निधि के बजाय निगम निधि के चेक बनाकर जारी कर चुकी है। 

निगम प्रशासन के अनुसार पिछले हफ्ते योजना शाखा में जाने-अनजाने चल रही बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। इसमें एक महिला कर्मचारी का नाम सामने आया है। उक्त कर्मचारी को विधायक स्वेच्छानुदान के चेक बनाने का काम दिया गया था। हाल ही में 4 हितग्राहियों को 2-2 हजार की स्वेच्छानुदान की राशि के चेक प्रदान किये जाने थे। जब यह चेक जारी हुए तो वे 20-20 हजार के जारी कर दिए गए। सूत्रों के अनुसार एक चेक पर आयुक्त के हस्ताक्षर तक कराकर प्रदान कर दिया गया। मामले में एक उपायुक्त ने उक्त गड़बड़ी या फर्जीवाड़े को पकड़ लिया और आयुक्त को जानकारी दी तो मामले में जांच बैठा दी गई। अकाउंट शाखा के माध्यम से बैंक से डिटेल निकाली गई तो मामला सही पाया गया। जबकि योजना शाखा के रजिस्टरों और रिकॉर्डो में चेक के विपरीत 2-2 हजार की एंट्री दर्ज पाई गई। निगम प्रशासन ने जो चेक भुगतान हो गए थे, उनकी अतिरिक्त राशि सरेंडर करा ली है। जबकि गड़बड़ी करने वाली महिला कर्मचारी को योजना शाखा से हटाकर जन्म-मृत्यु शाखा में अटैच कर दिया गया है। 

पहले भी विधायक निधि की बजाय निगम निधि से चेक दे दिए थे

योजना शाखा में करीब दो-तीन महीने पहले भी एक भारी गड़बड़ी का मामला सामने आया था। जिसमें इसी महिला कर्मचारी ने 30 से अधिक विधायक निधि के चेक  जारी करने में गड़बड़ी करते हुए निगम निधि के चेक बनाकर जारी करा दिए थे। अधिकांश का बैंक से भुगतान भी हो गया था। उक्त मामले को भी दूसरे कर्मचारियों ने पकड़ा था, जिसके बाद जांच कर बैंक से जानकारी जुटाई गई थी। उस राशि का समायोजन कराया गया था। उस समय मौखिक माफी के बाद कोई ठोस कार्रवाई टाल दी गई थी। लेकिन इस बार मामला 10 गुनी अधिक राशि के चेक बनाकर देने का था, सो आयुक्त आरपी अहिरवार ने महिला कर्मचारी को विभाग से ही हटा दिया है। जांच पूरी होने के बाद सख्त कार्रवाई भी की जा सकती है। 
■■
विधायक निधि के चेक 2 के बजाय 20 हजार के जारी कर दिए थे, हटा दिया है।
योजना शाखा में विधायक निधि से 2-2 हजार की जगह 20-20 हजार के चेक जारी कर दिए थे। पूर्व में भी उसी महिला कर्मचारी ने गलत निधि से चेक बना दिये थे। प्राथमिक जांच में मामला व गड़बड़ी सही पाई गई है। दोषी महिला कर्मचारी सविता दुबे को हटाकर दूसरे विभाग में पदस्थ किया गया है। जांच चल रही है। 
- आरपी अहिरवार, कमिश्नर, नगर निगम सागर

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive