रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

गुरुवार, 16 सितंबर 2021

मनमाने बिजली बिलों से आक्रोशित महिलाये व ग्रामीण पहुंचे विधुत मण्डल ★ बिजली बिलों के नाम पर जबरिया बसूली बर्दाश्त नहीं: पूर्व मंत्री सुरेन्द्र चौधरी

मनमाने बिजली बिलों से आक्रोशित महिलाये व ग्रामीण पहुंचे विधुत मण्डल
★ बिजली बिलों के नाम पर जबरिया बसूली बर्दाश्त नहीं: पूर्व मंत्री सुरेन्द्र चौधरी

सागर।  नरयावली विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पथरिया जाट, बाबूपुरा, लोधीपुरा सहित आस पास के ग्रामीणों को विद्युत मण्डल द्वारा आँकलित खपत के मनगढ़ंत बिजली बिल दिए जाकर की जा रही जबरिया वसूली से आक्रोशित बड़ी संख्या में महिलाओं एवं  ग्रामीणों ने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द्र चौधरी के साथ मकरोनिया स्थित विद्युत मंडल कार्यालय पहुंचकर बढ़े हुए बिजली बिलों को लेकर जमकर नारेबाजी कर कड़ा आक्रोश जताते हुए मनगढ़ंत और आँकलित खपत के बिजली बिलों की जांच कर जबरिया वसूली तत्काल बन्द करने की मांग की। इस दौरान पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द्र चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी एक ओर अपने आप को बहनों का भाई और भांजियों का मामा कहते नहीं थकते वहीं दूसरी ओर विद्युत मण्डल  द्वारा महिलाओं और बहन, बेटियों के नाम पर हजारों रुपए के मनगढ़ंत और आँकलित  खपत के बिजली बिल देकर उन्हें आर्थिक बोझ के तले दबा दिया है। आज लोग बिजली बिलों को कर्ज लेकर भरने को मजबूर है। श्री चौधरी ने मांग करते हुए चेतावनी देते हुए कहा है कि ग्राम पंचायत पथरिया जाट, बाबू पुरा, लोधी पुरा सहित आसपास के ग्रामीणों को दिए गए मनगढ़ंत और आँकलित खपत के बिजली बिलों की जांच की जाकर बिलों को तत्काल सुधारा जाकर वास्तविक बिलों की वसूली की जावे साथ ही जब तक जांच नहीं हो जाती तक किसी भी प्रकार से कनेक्शन काटने आदि की कार्यवाही स्थगित रखी जावे। कांग्रेस पार्टी किसी भी सूरत में बिजली बिलों के नाम पर जबरिया वसूली को बर्दाश्त नहीं करेगी। जिस पर विद्युत मंडल के  श्री आर. के. अरजरिया ने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही उक्त बिजली बिलों की जांच कर उन्हें सुधार करने की कार्यवाही की जावेंगी।इस दौरान मुख्य रूप से ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह चावड़ा, देवेन्द्र कुर्मी, एड. राजेश दुबे,आर. आर. पारासर,कलु गोविन्द पटेल, राजू डिस्क, राकेश राय, अशरफ खान, अनिल कुर्मी,  कमल जैन, राहुल खरे, गोविन्द सूर्यवंशी, राजवीर,राजा बुन्देला, निर्वाण सिंह, मुकेश खटीक, एम.आई खान, रोहित वर्मा, संजय रोहिदास,निशान्त आठया, विशाल बाबू,अविनाश खरे, अनूप सूर्यवंशी, चंदशेखर, उमाशंकर, लक्ष्मीनारायण, सुंदरलाल, राजकुमार, हेमराज, हरिराम, प्रेम सिंह सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण एवं महिलाएं मौजूद थी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive